e1.v-koshevoy.ru

New Hindi Sex Stories

बेटी के बॉयफ्रेंड ने मेरी चुदाई कर दी

मेरा नाम पिंकी है, 40 साल की हूँ और मैं गोरखपुर (उत्तर प्रदेश ) में रहती हूँ।  मैं एक शादीशुदा औरत हूँ, मेरी शादी को लगभग 19  साल हो गए हैं।  मेरे पति ज्यादातर घर के बाहर ही रहते हैं।  मेरी एक बेटी है और एक बेटा है.. जो अभी एक साल का है।  यह मेरी पहली कहानी है जो मैं मस्तराम पर पोस्ट कर रही हूँ।  मेरी जिन्दगी की यह सच्ची घटना है।  मेरी हिन्दी अच्छी नहीं है तो आप मेरी लिखने की गलती को माफ करना प्लीज़।  मैं घर पर अकेली रहती हूँ। अपने घर से दूर रहने के कारण मैं बहुत अकेली हो जाती हूँ।  हमारे घर के बगल में हमारे पड़ोसी रहते हैं.. उनके साथ हमारा अच्छा रिश्ता है।  उनका एक लड़का है जो १९ साल का है, वो हमारी बेटी के साथ खेलने घर पर आता है।  दोनों एक साथ एक ही स्कूल में पढ़ते हैं।  वो बहुत अच्छा लड़का है.. पर है तो मर्द ही ना..  एक बार उसके माता-पिता उसे हमारे घर पर छोड़ कर गए.. उन्हें कहीं बाहर जाना था।  उसे खाना खाने के लिए हमारे घर आना था, मैं उस लड़के को अपने साथ रखने के लिए मान गई।  मेरे पति भी घर पर नहीं थे तो मैंने सोचा अच्छा है.. वो और मेरी बेटी एक साथ स्कूल जाएंगे.. उन दोनों को और मुझे भी थोड़ी कम्पनी मिल जाएगी।  वो हमारे यहाँ तीन दिन के लिए आया।  मैंने उसे अपनी बेटी के बगल वाला कमरा दे दिया, पर वो बहुत डरपोक निकला।  पहले दिन ही रात में उसने मुझे जगा दिया और कहने लगा- मुझे डर लग रहा है।  तो मैंने उससे कहा- तुम मेरे कमरे में सो जाओ।  एक तरफ वो लेट गया और दूसरी तरफ मेरा बच्चा.. और मैं बीच में सो गई।  रात में मुझे कुछ महसूस हुआ.. मैंने ध्यान दिया कि उसका हाथ मेरी कमर पर था.. लेकिन मैंने कुछ नहीं कहा।  मैंने सोचा शायद डर कर उसने पकड़ा होगा.. मैं सो गई।  रात में मेरी नींद फिर से खुली.. इस बार कुछ गड़बड़ लगा।  उसने मेरी साड़ी को हटा कर मेरे पेट पर हाथ रखा था..  मैंने फिर ज्यादा ध्यान ना देने की सोची और सो गई, सोचा कि शायद गलती से रखा हो।  कुछ देर बाद मुझे लगा जैसे कोई मेरी नाभि में कुछ कर रहा है।  मैंने सोचा कि कोई कीड़ा या पतंगा होगा.. पर जब मैंने ध्यान दिया तो पता चला कि वो उसकी उंगली थी। आप यह कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | उसने अपनी पूरी उंगली मेरी नाभि में डाली हुई थी और घुमा रहा था।  उसने शायद सोचा होगा.. मैं सो गई हूँ और गहरी नींद में हूँ।  उस वक्त मुझे झटका लगा.. मुझे याद आया कि वो हमेशा मुझे देखा क्यों करता था.. खास कर जब मैं साड़ी पहनती थी।  वो अकसर मेरे पेट की तरफ देखता था और साड़ी में नाभि को देखता था।  वैसे उसकी नज़र तो और भी जगह होती थी.. पर नाभि पर ज्यादा होती थी और उसका अगला निशाना मेरा पेट और ब्लाउज से झांकते मेरे चूचों पर गड़ा रहता था।  तो आज मैंने सोचा कि उसे छोड़ दूँ और देखूँ.. वो क्या करता है।  मैं सोने का नाटक करने लगी और वो मेरी नाभि में अपनी उंगली डाल कर बहुत देर तक घुमाता रहा।  मुझे थोड़ी गुदगुदी भी हुई.. पर अच्छा भी लगा.. मुझे अपने पति की याद आ गई.. वो भी ऐसा करते हैं।  थोड़ी देर बाद उसने ऊँगली निकाली और उसका हाथ मेरे ब्लाउज पर पहुँच गया.. मैं चुपचाप लेटी रही।  वो ब्लाउज के ऊपर से ही मेरे स्तनों को सहलाने लगा।  वो शायद पहली बार किसी औरत के इतना करीब आया था.. बहुत डर-डर कर बहुत धीरे-धीरे कर रहा था।  शायद वो सोच रहा हो कि कहीं मैं उठ ना जाऊँ।  बहुत देर तक मेरे चूचे सहलाने के बाद उसकी हिम्मत आगे बढ़ने की हुई।  उसने मेरी छाती को धीरे-धीरे हल्के से दबाया.. मुझे बहुत अच्छा लगा, पर मैं शांत रही और मजा लेती रही।  थोड़ी देर बाद वो मेरे बोबों को जोर से दबाने लगा.. मैं उत्तेजना से पागल हो रही थी पर क्या करती.. वो मेरी बेटी का दोस्त है इसलिए चुप रही।  तभी मेरे स्तनों से दूध निकलने लगा और मेरा ब्लाउज गीला हो गया।  उसके हाथ में भी थोड़ा दूध लग गया.. तो वो डर गया और उसने अपना हाथ हटा लिया।  उसे लगा कि मुझे कुछ हो गया है।  मुझे थोड़ी हँसी आ गई.. तब तक सुबह हो चुकी थी.. मैं सो गई और वो भी।  अगले तीन दिन तक रोज रात में यही सब वो मेरे साथ करता और शायद वो भी महसूस करने लगा था कि मैं वो सब जानती हूँ पर हमने कभी इस बारे में बात नहीं की।  उसके बाद अगले दिन मैंने उससे पूरा मजा लेने की सोची और एक सामने से खुलने वाली नाईटी पहन कर सो गई आज मैंने अन्दर ब्रा-पैन्टी भी नहीं पहनी थी।  रात में जब उसका हाथ मेरे चूचों पर आया तो वो एकदम से चौंक गया | आप यह कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | मैंने अपनी नाईटी खोल रखी थी और उसका हाथ सीधा मेरी गोलाइयों पर आ गया था।  कुछ देर चुप रहने के बाद उसने अपने होंठ मेरे चूचुक पर लगा दिए और मेरी चूची को पीने लगा।  उसके मुँह में मेरा दूध जा रहा था.. मुझे चूत में सुरसुरी होने लगी।  तभी मैंने उसके मुँह से अपना दुद्धू निकाला लिया और दूसरा उसके होंठों की तरफ बढ़ा दिया।  उसने मेरी तरफ देखा और फिर अपने होंठों में चूचुक दबा लिया।  मैंने उसको अपनी बाँहों में भर लिया और एक हाथ से उसके लौड़े को सहला दिया।  वो एकदम से मेरे ऊपर चढ़ गया और कुछ ही पलों में हम दोनों चुदाई की स्थिति में आ गए और बिल्कुल नंगे हो गए।  उसका तन्नाया हुआ 6” का लौड़ा मेरी चूत में एक ही झटके में घुस गया।  चुदाई का घमासान होने लगा और दस मिनट की दौड़ के बाद हम दोनों झड़ गए।  वो मेरी चूत में अपना लौड़ा डाले हुए निढाल हो गया।  अब वो मेरा बिस्तर का पड़ोसी भी बन चुका था।  इसके बाद हमने कई बार चुदाई का आनन्द लिया। एक दिन हम दिन में चुदाई कर रहे थे की मेरी बेटी आ गयी | वो जानने के लिए थोडा सा वेट करना होगा अपलोगो को जैसे ही टाइम मिलेगा लिख के भेजुगी |

The Author

e1.v-koshevoy.ru: Hindi Sex Kahani © 2015

Online porn video at mobile phone


"nandoi ne choda""madhuri dixit sex stories""hindi sex kahani maa""baap aur beti ki chudai""antravasna hindi sex story""holi me chudai""kuwari chut ki kahani""mausi ki gand mari""animal chudai kahani""अंतरवासना कथा"www.chodan"maa beta beti sex story""hindi sexy story antarvasna"m.antarvasna.com"mastram com net""bhai bahen sex story""maa beta ki chudai ki kahani""antarvasna naukar""antarvasna maa ki chudai""maa beta sexy story in hindi""antarvasna story in hindi""mastram net""चोदन काम""gujrati chudai story""new marathi zavazavi katha""bhai se gand marwai""kamasutra story tamil""dost ki beti ko choda""mastram ki nayi kahani""sex story beti""marathi antarvasna com""marathi sexy goshti""आई मुलगा झवाझवी""kutte se chudai ki kahani""ma beta ki sex story""தமிழ் செக்ஸ் கதைகள்"freesexstory"bhabhi ne chodna sikhaya""baap beti ki chudai ki kahani hindi mai""marathisex katha""marathi antarvasna com""sex store in marathi""maa aur bete ki chudai ki kahani""maa bete ki sex story""maa ki chuchi""mastram kahaniya pdf""maa beta ki sexy story""sali ki chudayi""antarvasana stories""maa beta ki chudai ki kahani""chodan. com""maa ko pataya""bhai behan ki chudai hindi mai"freetamilsexstories"sex story bhai bhan""chudai ki khaniya in hindi""sasur ne bahu ko choda""mastram ki kamuk kahaniya""bhai bahan chudai ki kahani""sexy poem in hindi""baap beti sexy story""www mastram net com""chodan sex com""sambhog katha marathi""brother sister sex stories in hindi""chodan cim""hindi group sex stories""antarvasna behan""saas bahu sex story""chachi ki chudai ki kahani""madhuri dixit sex stories""mastram .net""madhuri dixit ki gand""bhabhi ne sikhaya""moti maa ko choda""home sex story in hindi""wife swapping hindi sex stories""kamasutra stories in tamil""animal hindi sex story""dog se chudai ki kahani""sexi kahani marathi""mastram net""sasur ka land""maa aur bete ki sex story""gandu antarvasna""moti aunty ki chudai kahani""antarvasna sadhu""mastaram net""भूत की डरावनी कहानियाँ"