e1.v-koshevoy.ru

New Hindi Sex Stories

डर से लंड कद्दू से मिर्च हो गया

“नहीं है वहाँ, मैने सब जगह ढूँढ लिया. बहुत ज़रूरी है. कुछ देर के लिए नीचे चल के खोज दे”
काजल और राघव दोनो की जान निकल गयी. काजल के माथे पर पसीना आने लगा. “देखो ना वहीं कहीं पड़ी होगी, पढ़ाई छोड़ कर कैसे आउ?”
काजल की मा ने राघव की तरफ देखते हुए कहा “सर जी, थोड़ी देर के लिए जाने दीजिए. बहुत ज़रूरी है.” राघव के मुँह से तो आवाज़ ही नही निकल रही थी. उसे तो लगा कि आज सारा भांडा फूट जाएगा.
“ठीक है, तुम नीचे जाओ. मैं इस सवाल को ख़तम करके आती हूँ” काजल ने स्थिति को संभाल लिया.
“जल्दी आ” मा नीचे चली गयी.
दोनो ने राहत की साँस ली. काजल ने उठ कर अपनी सलवार को ठीक किया और राघव ने कद्दू से मिर्च हो चुके लंड को पैंट के अंदर किया.  आप लोग यह कहानी मस्तराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |
काजल के वापस आने पर राघव ने उसे फिर से सज़ा देनी चाही, पर वो नही मानी. “मा आ जाएगी”
अगले दिन राघव के काफ़ी ज़ोर देने पर काजल सज़ा के लिए तैयार तो हुई पर उसने शर्त लगा दी कि कपड़े मत उतरिएगा. राघव को कपड़ो के उपर से ही काजल की चुचि गांड और चूत को मसल कर संतोष करना पड़ता था. अपने पुराने अनुभव के कारण वो पैंट के अंदर लंड झार नही सकता था और काजल उसे लंड बाहर निकालने नही देती थी. अगले कुछ दिनो तक राघव को बस उपरी मज़ा मिला. गहराई में उतरने की उसकी लालसा बस लालसा बन कर ही रही. पर जो भी मिल रहा था बहुत था. वो तो अपने कॉलेज के एग्ज़ॅमिनेशन के समय भी काजल को कोचिंग पढ़ाने आता, उसे सज़ा देने आता. अब पढ़ाई में पढ़ाई से अधिक महत्वपुर्णा पनिशमेंट हो गया था. कहते हैं ना ‘स्पेर दा रोड, स्पायिल दा चाइल्ड’. राघव अपने रोड को बिल्कुल स्पेर नही करता था. काजल को हर ग़लती पर पनिशमेंट में रोड मिलता तो सही पर अवॉर्ड में. कोचिंग का सत्तर फीसदी समय काजल केपनिशमेंट में जाता. काजल का गणित सुधरा या नही ये तो उपर वाला जाने, पर उसकी चुचि का आकार ज़रूर सुधर गया था.
आज काजल घर में अकेली थी. उसके मा और बाबूजी दोनो गाओं गये थे. काजल ने पढ़ाई का बहाना कर मना कर दिया था. वास्तव में उसे बहुत ज़िद करनी पड़ी थी. उसकी मा तो गुस्सा हो गयी थी पर बाबूजी पढ़ाई के प्रति काजल के समर्पण से खुस थे. राघव के आने पर काजल ने कहा “आज नीचे ही पढ़ा दीजिए”  आप लोग यह कहानी मस्तराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |
“क्यूँ?”
“घर में कोई नही है. उपर गये और कोई घर में घुस आया तो?”
काजल के घर में अकेली होने के बात से ही राघव का लंड तमतमा गया. उसका पैंट फूलने लगा.
“दरवाजा बंद करके उपर चलो”
“कहीं कोई आया तो पता कैसे चलेगा?”
“आने दो, पढ़ाई में कोई डिस्टर्बेन्स नही होनी चाहिए. तुम्हारा ध्यान पढ़ाई में बिल्कुल नही रहता. तुम्हे पढ़ाई से अधिक लोगों की फिक्र है”
काजल को राघव के इरादे की भनक लगने लगी थी. उसके निपल भी तन गये, धड़कने और साँसे तेज़ हो गयी और चूत में हलचल होने लगी. उसने दरवाजे को बंद किया और उपर चढ़ने लगी. राघव उसके पीछे पीछे पैंट के अंदर अपने लंड को अड्जस्ट करता हुआ चढ़ने लगा. उपर कुर्शी पर बैठते ही राघव ने कहा
“कल का होमवर्क बनाई हो”
काजल ने बनाया ही कब था जो आज बनाती. “इतना पनिशमेंट के बाद भी तुम सुधरी नही हो. मुझे तुम्हारा पनिशमेंट बढ़ाना पड़ेगा. चलो अपना कमीज़ उतारो”  आप लोग यह कहानी मस्तराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |
“क्या!”
“जो कहता हूँ चुप चाप करो, बिना इसके तुम नही सुधरने वाली हो” वो काजल की कमीज़ को पकड़ उपर उठाने लगा.
“कोई आ जाएगा” “कोई नही आएगा, नीचे दरवाजा बंद है” उसका सफेद चिकना पेट खिड़की से आ रहे सूरज के प्रकाश से दीप्तिमान हो रहा था और जैसे जैसे कमीज़ उपर उठती जा रही थी काली ब्रा में छिपि दो गोल चुचियाँ उसकी कमीज़ से ऐसे उभर कर बाहर आ रही थी जैसे बदल के छटने से ग्रहण लगा हुआ चाँद उभर रहा हो. राघव ने पहली बार काजल की चुचियों को कमीज़ के बाहर देखा था. उसका लंड तुरंत पैंट फाड़ कर बाहर निकलने के लिए उतावला हो गया. उसने काजल को फिर से बेड पकड़ कर आगे की तरफ झुकने के लिए कहा. काजल की मक्खन जैसी चिकनी पीठ पर ब्रा के काले स्ट्रॅप केअलावा कुछ भी नही था. नीचे काले रंग की चूड़ीदार सलवार नीचे की तरफ सरकी हुई थी जिससे काजल की गुलाबी ब्रा का उपरी भाग बाहर झाँक रहा था. अपनी गर्म नंगी पीठ पर राघव की शार्ड उंगलियों के स्पर्श से शिहर उठी. उसने बेड को मुट्ठी में जाकड़ लिया. राघव अपने हाथ से काजल की पीठ की गर्मी को महशूष करता हुआ उसके गर्दन से कमरपर होते हुए नितंब तक गया. फिर अहिश्ते आहिस्ते उपर बढ़ कर उसके ब्रा के स्ट्रॅप को अनहुक किया. काजल ने अपनी आँखो को बंद कर लिया. राघव के हाथ काजल की पीठ से होते हुए उसकी गोल चुचियों को अपनी हथेलियो से ढक कर मसल्ने लगे. काजल की चुचियों पर से ब्रा की काली पर्छाया हटा कर राघव ने दोनो चंद्रमाओं को ग्रहण से मुक्त किया और वो चाँदनी की तरह चमक उठे. चमकते गोलाकार चाँद पर काजल के गुलाबी निपल्स शिखर के समान खड़े थे. राघव ने उन गुलाबी शिखरों को अपनी उंगलियों के बीच में दबा कर मसला. “इस्शह” काजल नशीले धीमी स्वर में चीखी. काजल की चीख ने राघव के लंड में रक्त संचार को और तीव्र कर दिया. उसने काजल की चुचि को ज़ोर से मसल्ते हुए अपने लंड को उसकी गांड पर दबाया. फिर अपने एक हाथ को नीचे सरकाते हुए काजल के पेट पर ले गया. काजल की मुट्ठी काज़ोर बढ़ने लगा. जैसे जैसे राघव के हाथ नीचे की तरफ बढ़ रहे थे वैसे वैसे काजल का बदन तन रहा था. उसके नितंब कस गये और काजल अपनी दोनो जांघों को दबाने लगी. राघव ने काजल की सलवार के नाडे को खीच कर खोल दिया और अपने हाथ से उसकी सलवार को नीचे सरका कर काजलको नंगा कर दिया. सलवार के नीचे जाते ही गुलाबी पैंटी के बीच आधे छिपे काजल के पुष्ट सुडौल नितंब प्रत्यक्ष हो उठे.  आप लोग यह कहानी मस्तराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |
राघव ने अब तक काजल को केवल ढीले सलवार और कमीज़ में देखा था जिसमे उसके जिश्म की खूबसूरती पूरी तरह से नही झलकती थी. नंगी काजल के जिश्म का नज़ारा कुछ और ही था. साढ़े पाँच फुट लंबा कद, दुबली काया – 26 की कमर. दुबली साइलेंडरिकल बदन पर दो गोल पुष्ट उरोज़ और कमर के नीचे औसत से अधिक बड़े नितंब काजल को बहुत सेक्सी बना रहे थे. काजल के इस कामिनी रूप देखने के पस्चात राघव के लिए सब्र रखना मुश्किल हो रहा था. उसने अपना शर्ट और पैंट उतारना सुरू कर दिया. बंद आँखों में मूर्ति की तरह झुक कर खड़ी काजल अचानक से राघव कास्पर्श ख़त्म होने से थोड़ी अचंभित थी. उसने ये उम्मीद नही किया था कि उसके राघव सर उसके सामने नंगे हो जाएँगे. थोड़ी देर बाद जब अपनी जांघों पर राघव के जांघों की गर्मी, अपनी चूत के पास राघव के लंड, अपनी गांड पर राघव के बॉल और पीठ पर राघव की नंगी छाती महशूष करने के बाद उसे यकीन हो चुका था कि सर नंगे हो गये हैं. पर उसकी आँख खोल कर देखने की हिम्मत नही हो रही थी. उसने अपने निचले होंठ को दांतो में दबा लिया और सर के अगले कदम का इंतेज़ार करने लगी. काजल को अधिक देर तक इंतेज़ार नही करना पड़ा. राघव का एक हाथ फिर से उसकी चुचियों से खेल रहा था और दूसरा हाथ नीचे उसकी पैंटी के उपर से उसकी गीली चूत को मसल रहा था. चुदाई के इस पहले मौके में राघव केलिए सब्र रखना संभव नही था. वह बिना अधिक समय गवायें काजल की पैंटी को नीचे सरका कर उसकी चूत को अपनी उंगली से मसल्ने लगा. ज़ोर से धड़कते दिल और तेज़ चलती सांसो के बीच बंद आँखों में अपने होंठ को दाँतों तले दबाए काजल ने अपनी जांघों को एक दूसरे की तरफ दबाया. राघव ने उसकी जांघों को फैलाया और उसकी चूत में अपनी उंगली घुसा दी. काजल का बदन अकड़ गया. राघव की उंगली इस काली घाटी की गहराइयों में उतरने लगी. अब काजल भी आनंद में मचल रही थी. राघव काजल को मस्ती में देख समझ गया कि अब काजल उसके लंड को लेने केलिए तैयार है. उसने उसकी चूत से उंगली निकाल कर अपने लंड का सूपड़ा उसकी चूत पर मसल्ने लगा. फिर धीरे धीरे उसने लंड को अंदर घुसाया. काजल की कुँवारी चूत बहुत टाइट थी. लंड के दबाव से काजल चीखने लगी. राघव ने लंड को अंदर घुसाना बंद कर उसकी चुचियों को मसल्ने लगा. काजल के शांत होने पर उसकी चुचियों को छोड़ राघव काजल की कमर और गांड को अपने दोनो हाथों से मसल्ने लगा. और फिर काजल की कमर को पकड़ एक झटके के साथ लंड को अंदर धकेल दिया. काजल दर्द से चीख उठी. काजल के शांत होने तक राघव उसकी चुचियों और बदन को सहलाने लगा. कुछ देर में काजल फिर से शांत हो गयी. फिर राघव ने अपने लंड को धीरे धीरे हिलाना सुरू किया. थोड़ी देर में ही राघव काजल को पूरे जोश में चोद रहा था और काजल भी अपनी गांड को हिला और सिसकारियाँ भर कर राघव को पूरा सहयोग दे रही थी. पहली बार चुदाई का मज़ा ले रहे राघव और काजल को चरम पर पहुँचने में अधिक वक़्त नही लगा. एक धमाके के साथ दोनो के प्रेमरस का संगम हुआ. आख़िरकार राघव को उसकी पहली चुदाई का मज़ा मिल ही गया. आप लोग यह कहानी मस्तराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | उस दिन काजल का कोचिंग पूरी रात चला और पूरी रात राघव ने उसे अलग अलग ढंग से सज़ा दी. अगले १३ महीनो के कोचिंग में राघव ने काजलको हर तरह से, हर पोज़िशन में हर पासिबल तरीके से चोद कर उसका मज़ा लिया. काजल इस कोचिंग से फिज़िक्स मैथ में स्ट्रॉंग तो नही हुई परचुदाई में अव्वल दर्जे की हो गयी.

मस्त मस्त कहानियां

69Adult JokesAntarvasnaBengali Sex KahaniEnglish Sex StoriesFingeringGroup SexHindi Sex StoriesHome SexJanwar Ke Sath ChudaikamasutraMaal Ki ChudaiMarathi Sex Storiese1.v-koshevoy.ru Ki Sex KahaniyaMom Ke Sath Lesbian SexNanVeg JoksNanVej Hindi JoksPahli Bar SexSanta Banta JoksSex During PeriodsSex With DogTamil Sex StoryUrdu Sex StoriesWhatsapp Jokesआन्टीउर्दू सेक्स कहानियाकुँवारी चूतकॉल बॉयखुले में चुदाईखूनगर्लफ्रेंडगांडगीली चूतगैर मर्दचाचा की लड़कीचाचा भतीजीचाची की चुदाईचालू मालचुदासचूची चुसाईचूत चुसाईजवान चूतजवान लड़कीजीजाजीजा सालीटीचर चुदाईट्रेन में चुदाईदर्ददोस्त की बहनदोस्त की बीवीदोस्त की मम्मीनंगा बदनपडोसी दीदीपापा के साथ चुदाईप्यासी चूतबहन भाई चुदाईबहुबहु की चुदाईबाप बेटीबीवी की चुदाईबीवी की बहनबुवा की चुदाईबेचारा पतिबॉयफ्रेंडबॉलीवुड सेक्स न्यूज़भाभी की चुदाईमम्मी की चुदाईमम्मी चाचामराठी कहानियामराठी सेक्स कथामाँ बेटामाँ बेटीमामा की लड़कीमामा भांजीमामी की चुदाईमैडममौसी की चुदाईमौसी की लड़कीलण्ड चुसाईविधवावीर्यपानससुरसहेलीसाली की चुदाईसील बन्द चूतसेक्स और विज्ञानसेक्स ज्ञानहब्शी लौड़ाहस्तमैथुनதமிழ் செக்ஸ் கதை
e1.v-koshevoy.ru: Hindi Sex Kahani © 2015

Online porn video at mobile phone


"sexy story in marathi language""baap beti ki chudai hindi kahani""devar bhabhi ki chudai ki kahani hindi mai""sunny leone ki chudai ki kahani""baap beti ki chudai ki kahani hindi mai""kutte se chudai ki kahani""mastram sex stories""mastaram sex story""antarvasna maa beta story"mastramnet"mosi ki chudai story""baap beti ki chudai""sex story in hindi bhai bahan""marathi kamukta com""chacha ki ladki ki chudai""hindi sex story baap beti""hindi sex story chodan""janwar sex story""rishton main chudai""mausi ki ladki""madhvi ki chudai""kutiya ki chudai""mastram com net""bollywood actress sex story in hindi""marathi sexy gosti""beti ki chudai ki kahani""antarvasna maa bete ki""bahu ki chudai story""latest antarvasna""holi sex story""mastram hindi sex store""bahu ki chudai ki kahani""antarvassna hindi story"m.antarvasna.com"kajal sex story""antarvasna bhabhi ki chudai""sasur bahu ki antarvasna""mastram hindi sex story""मराठी सेक्स स्टोरिज""devar bhabhi ki chudai ki kahani hindi mai""khet me maa ki chudai""sexi marathi katha""bollywood heroine sex story""mastaram hindi sex story""sex kahaniyan""wife swapping kahani""group chudai kahani""ma bete ki sex kahani""chudai wala pariwar""ma beta sex story in hindi""mastram net hindi""marati sexi kahani""didi ki jawani"freesexstory"marathi sex kahani com""chudai shayri""marathi animal sex story""mastram sexy kahani""choti behan ko choda""beti ki chudai story""सेक्सी शायरी हिंदी"janwarsechudai"sunny leone sex story in hindi""தமிழ் செக்ஸ் கதை""hindi sex mastram""meri jabardast chudai""mastaram net""hindi chodai ki kahani""bhai se chudai ki kahani""mastram hindi sex stories""marati sexi story""devar bhabhi hindi sex story""ma beta sex stories""maa ki chut ka pani""baheno ki chudai""chodan hindi sexy story""mastram ki sexy kahaniya""maa beta hindi story""मस्तराम की कहानियां""jugadu uncle""maa ke sath masti""bahan ki bur""choot ka ras""mastram net hindi""taiji ko choda""marathi sexy stories in marathi font""हिन्दी सैक्स स्टोरी""maa bete ki sex ki kahani""मेरी पहली चुदाई""ગુજરાતી સેકસ વારતા""sex story hindi group"