e1.v-koshevoy.ru

New Hindi Sex Stories

मेरा चुदाई का प्यासा परिवार-2

मेरा चुदाई का प्यासा परिवार-1
गतांग से आगे …… गाउन का बेल्ट खुलते ही, गाउन पापा के कंधों से झूलने लगा और उनकी सामने की बॉडी पूरी नंगी हो गई और लण्ड सीधा खड़ा हो के, करिश्मा की तरफ खड़ा हो के सलामी देने लगा।
करिश्मा पापा के लण्ड को भूखी नज़रों से देखने लगी और पापा ने अपना लण्ड ढकने की, ज़रा भी कोशिश नहीं की।
ससुरजी – क्या हुआ करिश्मा… तुम ने मेरा गाउन क्यों खोला…
करिश्मा – सॉरी पापा… आप के ऊपर, वो वाइन गिर गई थी और मुझे नहीं पता था की आप ने अंदर अंडर वियर नहीं पहना है… ससुरजी – चलो, कोई बात नहीं… ठीक है…और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |
करिश्मा – पर पापा, आप ये गाउन पूरा निकाल दो… नहीं तो, वाइन से आपकी स्किन चिप चिपि हो जाएगी…
ससुरजी – ठीक है… पर गाउन निकाला तो मैं पूरा नंगा हो जाऊंगा…
करिश्मा – कोई बात नहीं… मैं बिल्कुल भी माइंड नहीं करूँगी… आप गाउन निकाल दीजिए…
ससुरजी – ठीक है…
पापा ने, अपना गाउन निकाल दिया।
अब वो सोफे पर करिश्मा के सामने, पूरे नंगे बैठे थे और उनका 9 इंच का पूरा खड़ा हो के करिश्मा को सलामी दे रहा था।
करिश्मा की नज़र, पापा के लण्ड पर ही टिकी थी।
करिश्मा, अभी भी तौलिया में थी और वो किसी बहाने अपना तौलिया उतारने का प्लान बनाने लगी।
पापा का हाथ, लण्ड तक पहुँच गया था।
वो एक हाथ से, वाइन सीप कर रहे थे और दूसरे हाथ से करिश्मा को देखते हुए लण्ड हिला रहे थे।
तब तक, करिश्मा एक प्लान बना चुकी थी।
करिश्मा – अरे पापा, आप के छाती पे और टमी पे वाइन लगी है… इसे सॉफ कर लेना चाहिए नहीं तो स्किन चिपचिपी हो जाएगी…
ससुरजी – कैसे करूँ… बाथरूम में एक ही तौलिया था, जो की तुम ने पहाँ रखा है…
करिश्मा – ओह!! तो आप ये तौलिया ले लीजिए और सॉफ कर लीजिए… लाइए, मैं सॉफ कर देती हूँ…
ससुरजी – पर ये तौलिया उतारा तो तुम नंगी हो जाओगी…
करिश्मा – तो क्या हुआ… आप भी तो पूरे नंगे हो…
ससुरजी (सोफे से खड़े होते हुए) – ठीक है, तुम ही सॉफ कर दो…
करिश्मा उठ कर, बाथरूम में गई और अपना तौलिया उतार के थोडा सा गीला किया और हाथ में तौलिया ले के पूरी नंगी बाहर आ गई।
पापा अब एकटक, उसके बूब्स देख रहे थे।
वो इतराती और बलखाती हुई सिर से पाँव तक नंगी, पापा के पास गई और एकदम से खंडे लण्ड पे हाथ रख के, दूसरे हाथ से पापा का सीना तौलिया से सॉफ करने लगी.! करिश्मा के बूब्स, पापा के सिने से टच हो रहे थे और पापा के लण्ड का सुपाड़ा करिश्मा के प्यूबिक एरिया पे रगड़ रहा था।और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |
वाइन सॉफ करने के बाद, करिश्मा ने तौलिया बाथरूम की तरफ फेंक दी पर अपनी पोज़िशन चेंज नहीं की.!
करिश्मा – (ससुरजी के सिने पे हाथ मलते हुए) – पापा सॉफ हो गई, आप की छाती…
ससुरजी – हाँ बेटा… धन्यवाद…
इतना कहते हुए, पापा ने करिश्मा के कंधे पे हाथ रख दिए और दवाब बनाते हुए नीचे बिठा दिया।
करिश्मा भी पापा का इशारा समझ गई और उनकी जांघों पे बैठ गई।
अब पापा का लण्ड, करिश्मा के मुंह के सामने था और लिप्स पे टच हो रहा था।
करिश्मा ने मुंह खोला और पापा ने अपना लण्ड करिश्मा के मुंह में डाल दिया।
ससुरजी – उःमन्ह: करिश्मा… चूसो मेरा लण्ड, ज़ोर से… मज़ा आ रहा है… चूसती रहो… तुम्हारी चूत, क्या मस्त है… चलो उठो, बेड में चलो…
करिश्मा – पापा, मैं आप की रंडी हूँ… चोद डालो, मुझे…
पापा ने करिश्मा को बेड पे लिटाया और लण्ड उसकी चूत पे रखा।
ससुरजी – तो फिर, आ जा मेरी रंडी… चुदने के लिए, तैयार हो जा…
करिश्मा – मैं तो कब से तैयार हूँ… भूखी हूँ, लण्ड के लिए… डाल डो अपने मजबूत लण्ड को मेरे अंदर… आआ अहह…
ससुरजी – ले अंदर गया… और पापा ज़ोर ज़ोर से करिश्मा को चोट मारने लगे।
पट पट पट पट पट पट… फॅट फॅट फॅट फॅट फॅट फॅट…
करिश्मा – आ अहह आहह आअहह आ आ आ आ आ आ आ आ आ आ आ… छोड़ दो मुझे… फाड़ दो… आहहा आहह ह ह ह ह ह ह ह… ले लो, मेरी चूत… कुतिया की तरह, चोदो मुझे पापा… बहुत मज़ा आ रहा है…
ससुरजी – ये ले रंडी और ले… तू तो, सुमोना से भी बड़ी रंडी है… सुमोना से ज़्यादा मज़ा आ रहा है, तेरी चूत लेने में… आआहह आआ अहह आ आ आ आ आ आ आ आ आ करिश्मा.!.! आ आहह ह ह ह ह ह ह ह ह ह आ आहह रूचि s s s s s s… आ आहह आ अहह आ आहह आ आहह स स स स स स स स स स करिश्मा s s s s s s… आ आ अहह उंह म म म म म…
करिश्मा – और ज़ोर से पापा, और ज़ोर से… मैं आ रही हूँ पापा, मैं आ रही हूँ…
ससुरजी – सु रभि स स स स स स स s s s s s s… आ अहह ह ह ह ह ह ह… मैं भी…
फिर थोड़ी देर बाद, चुदाई के बाद वाइन पीते हुए।और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |
करिश्मा – पापा, आप ने मुझे चोदते हुए एक दो बार रूचि का नाम लिया था… आप को, उसकी भी चाहिए क्या… मैं कुछ हेल्प करूँ, आप की…
ससुरजी – अरे, वो सब अभी रहने दो… अभी तो मुझे ये 2 हफ्ते, तुम्हारे बदन का पूरा मज़ा लेने दो…
उसके बाद, अगले 2 हफ्ते तक मेरे पापा और करिश्मा दोनों साथ ही सोते थे और रोज चुदाई करते थे।
2 हफ्ते बाद, सुमोना के अमेरिका से वापस आने का टाइम आ गया था और मेरी भी छुट्टियाँ पूरी हो रही थी और मुझे रूचि के साथ वापस आना था।
हमारे बिज़्नेस के सिलसले में हमारे एक रुटीन क्लाइंट, जो की सिंगापुर में थे। वो हमें किसी थर्ड पार्टी के साथ, बिज़्नेस मीटिंग्स और डीलिंग्स के लिए मिलवाना चाहते थे।
वो चाहते थे की हम में से कोई, कुछ दिनों के लिए सिंगापुर आ जाए और मीटिंग में पार्टिसिपेट करे।
उन्होंने पापा को कॉल कर के रिक्वेस्ट की, हमारे परिवार में से कोई आ जाए।
पापा ने कहा – ठीक है… मैं किसी को भेजता हूँ… नो प्राब्लम… कोई ना कोई, पहुँच जाएगा…
पापा ने सोचा की सुमोना, अभी भी अमेरिका में ही है। उसको बोलता हूँ, अगर वो जा सके तो अच्छा होगा।
ये सोच कर, पापा ने सुमोना को कॉल किया और सारी बात बताई।
सुमोना तो हमेशा से लण्ड की भूखी थी और मुझे और आकाश को सिड्यूस करना चाहती थी पर कभी ऐसा कोई मौका नहीं आया।
सुमोना ने सोचा – शायद, इस बार ऐसी कोई बात बन जाए… और यही सोच कर, उसने पापा से कहा की वो अमेरिका से सीधा 1 हफ्ते के लिए, सिंगापुर चली जाएगी पर उसे ने ये भी कहा – आकाश या किशोर में से कोई, मेरे साथ वहाँ आ जाए तो अच्छा होगा और मुझे डिसिशन्स लेने में आसानी होगी…
पापा ने कहा – ठीक है… आकाश को तो अभी मॉरिशस में एक हफ्ते और लगेगा तो मैं किशोर से बात करता हूँ…
फिर पापा ने मुझे, ऊटी कॉल किया।
तब मैं, एक दो दिन में वापस आने की सोच ही रहा था।
पापा ने मुझे सारी बात बताई तो मैंने सोचा की ये गरमा गरम सुमोना के साथ सिंगापुर में रहने का गोलडेन चान्स है.! यही सोच कर के, मेरा लण्ड खड़ा हो गया और मैंने तुरंत हाँ कर दी.!और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |

मैंने पापा को बोला – मैं रूचि को देल्ही की फ्लाइट पर घर के लिया छोड़ कर, यहाँ से डाइरेक्ट सिंगापुर चला जाता हूँ…
पापा ने मुझे बताया की सुमोना वहाँ कल पहुँचने वाली है… कल, तुम रूचि को घर के लिए रवाना कर के सुमोना को कॉल कर लेना और परसों तक पहुँच जाना…
अगले दिन, मैंने रूचि को एयरपोर्ट छोड़ के सुमोना को कॉल किया।
मैं – हैलो, सुमोना…
सुमोना – हैलो किशोर… कैसे हो तुम…
मैं – मैं ठीक हूँ, सुमोना… आप बताओ आप कैसी हो…
सुमोना – मैं भी ठीक हूँ… मैं यहाँ सिंगापुर में हूँ…
मैं – हाँ सुमोना… पापा ने बताया था की तुम आज सिंगापुर पहुँच जाओगी… मैं भी कल वहाँ आ रहा हूँ… कल मैं, दिन में 3 बजे तक वहाँ पहुँच जाऊंगा…
सुमोना – ठीक है, जल्दी आ जाओ… मैं अभी अभी यहाँ पहुँची हूँ और पेसिफिक होटल में चेक इन किया है… मैं कल 3 बजे एयरपोर्ट आ जाउंगी तुम को लेने…
मैं – नहीं सुमोना, मैं अपने आप ही होटल आ जाऊंगा… तुम को आने की ज़रूरत तो नहीं है, वैसे… फिर भी, अगर तुम फ्री हो और आना चाहती हो तो…
सुमोना – कोई बात नहीं, किशोर… वैसे भी मैं फ्री हूँ, होटल में बोर हो जाउंगी… हमारी मीटिंग्स 3 दिन बाद, सोमवार से स्टार्ट हैं और बुधवार तक हैं…
मैं – ठीक है… कोई बात नहीं, आप आ जाना…
सुमोना – ठीक है… हाँ एक और बात… मैंने यहाँ पेसिफिक में हम दोनों के लिए एक ही रूम बुक किया है… मुझे लगता है, तुम को मेरे साथ रूम शेयर करने में कोई प्राब्लम नहीं होगी… अगर, तुम अलग रूम चाहते हो तो बता दो… मैं अभी एक और रूम बुक कर दूँगी…
मैं – (मेरे मन में लड्डू फूटा और लण्ड खड़ा हो गया) अरे नहीं, सुमोना कोई प्राब्लम नहीं है… हम दोनों एक ही रूम में रह लेंगें… मुझे बिल्कुल भी प्राब्लम नहीं है…
सुमोना – चलो, ठीक है… गुड उनमह: आ जाओ… मैं तुम्हारा इंतेज़ार कर रही हूँ… उफफफफफफ्फ़…
मैं – (लंबी साँस लेते हुए और छोड़ते हुए) सुमोना मैं आ रहा हूँ, कल पक्का… 3 बजे…
सुमोना – चलो, कल मिलते हैं, एयरपोर्ट पर…
मैं – ठीक है… बाय बाय…और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |

मैंने अगले दिन, अपना सामान पैक किया और ऊटी के रिज़ॉर्ट से चेक आउट कर के सिंगापुर के लिए निकल पड़ा।
जब मेरा प्लेन सिंगापुर एयरपोर्ट पे लैंड हुआ और मैं जैसे ही एयरपोर्ट से बाहर आया तो वहाँ सुमोना को खड़ा मेरा वेट करते देखा।
सुमोना ने भी मेरी तरफ देखा और हम दोनों की नज़रें मिली और हम दोनों एक दूसरे को देख के मुस्करा दिए।
सुमोना, सुपर सेक्सी लग रही थी।
सुमोना ने एक डार्क ब्लू कलर की सी थ्रू साड़ी पहनी थी और उसके साथ मिलते कलर का स्लीवलेस और बैकलेस, डीप नेक का ब्लाउज पहना था।
उसने अपनी साड़ी नाभि से, 3 इंच नीचे बँधी थी।
उस ड्रेस में, उसको देखते ही, मेरे तन बदन में आग लग गई और मेरा लण्ड खड़ा हो गया।
फिर हम दोनों ने ही एक दूसरे को हैलो किया और हग करने के लिए, सुमोना ने अपनी बाहें फैला दी।
मैंने भी उसे एक ज़ोर का हग दिया और हग देते हुए, उसकी बैकलेस ब्लाउज से नंगी होती हुई पीठ पर हाथ से हल्का सा मसाज दिया।
फिर हम दोनों अलग हो कर, उसको लाई हुई टैक्सी की तरफ चल पड़े।
जब हम टैक्सी के पास पहुँचे तो ड्राइवर ने समान डिग्गी में रखा और हम दोनों पीछे की सीट पर बैठ गए।
जब सुमोना टैक्सी में बैठ रही थी, तब उसने जान बूझ कर, साड़ी का आँचल उसके सीने से ढलका दिया और ऐसे ही बैठ गई।
उसने अपना टैक्सी की सीट पे पड़ा आँचल वापस उठाने की फिर कोई कोशिश नहीं की और ऐसे ही बैठी रही।
मैं उसके बगल में बैठा था।
टैक्सी चल पड़ी और मैं सुमोना के बगल में बैठा उसकी डीप क्लीवेज और नेवेल एरिया को घूर रहा था।
घूरते हुए, मेरा लंबा और मोटा लण्ड एक दम खड़ा हो गया और पैंट मैं टेंट बना के सुमोना को सलामी देने लगा।
मैंने भी लण्ड के टेंट को, कवर करने की ज़रा भी कोशिश नहीं की।
सुमोना मुझे उसको घूरते हुए देख रही थी और मेरे पैंट में बना टेंट भी देख रही थी।
ये देख कर, उसने भाँप लिया की आग दोनों तरफ बराबर लगी हुई है और वो मन ही मन खुश हो रही थी की अब यहाँ सिंगापुर में उसको मेरा लण्ड मिल ही जायगा। और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |
थोड़ी देर में, हम लोग होटल पहुँच गये और टैक्सी से उतर कर अपने रूम में आ गए।
सुमोना ने पीछे से रूम लॉक कर दिया और मैंने अपना समान एक तरफ रख दिया।
सुमोना – आप चेंज कर के, फ्रेश हो जाओ… तब तक मैं, रूम सर्विस से कुछ ऑर्डर करती हूँ…
मैं – क्या ऑर्डर करोगी… मुझे अभी भूख नहीं है… एयरपोर्ट पे और फ्लाइट में मैं बहुत कुछ खा चुका हूँ… आप ने लंच किया या नहीं…
सुमोना – मैं भी लंच कर के ही, एयरपोर्ट के लिए निकली थी… अभी तो 4:30 ही बजे हैं… डिन्नर टाइम होने में, अभी बहुत देर है…
मैं – तो अब आगे क्या प्लान है…
सुमोना – आगे अब 3 दिन तक, हमको यहाँ कोई काम नहीं है… चलो, ऐश करते हैं… कुछ दारू शरु पीते हैं और एंजाय करते हैं…
मैं – गुड आइडिया… तुम कुछ ड्रिंक्स और स्नैक्स ऑर्डर करो… तब तक मैं चेंज कर के आता हूँ…
सुमोना – ठीक है… तुम क्या पियोगे… तुम्हारी पसंदीदा स्कॉच, विस्की या कुछ और…
मैं – मैं तो विस्की ही पीऊंगा… और तुम…
सुमोना – मैं भी आज विस्की पियूंगी… ठीक है, चलो मैं ऑर्डर करती हूँ…
मैंने अपने सामान में से एक शॉर्ट और एक टी शर्ट निकाली और बाथरूम में चला गया।
फिर, मैंने अपने सारे कपड़े ओर अंडरवियर उतार के शॉर्ट और टी शर्ट पहाँ ली।
शॉर्ट के अंदर, मैंने अंडर वियर नहीं पहना था।
फिर, मैं वापस कमरे में आ गया और सोफे पे बैठ गया।
सुमोना बेड पर बैठी थी।
थोड़ी देर में, वेटर एक विस्की की बॉटल, सोडा, आइस क्यूब्स सलाद और कुछ स्नैक्स ले कर आ गया।
सुमोना ने उठ कर, दरवाज़ा खोला और सारा समान टेबल पर लगवा दिया।
वेटर के जाने के बाद, वो दरवाज़ा लॉक कर के पलंग पे आ कर बैठ गई।
मैं – सुमोना, तुम भी चेंज कर के कंफर्टबल हो जाओ…और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |
सुमोना – नहीं… मैं ऐसी ही, ठीक हूँ… मैं बस ये साड़ी निकाल देती हूँ, जो इधर उधर गिर रही है… फिर, मैं कंफर्टबल हो जाउंगी… मुझे साड़ी पहाँना ही पसंद है पर इसको संभालना थोड़ा अनकंफर्टबल होता है…
ये कह कर, सुमोना बेड से उठी और अपनी साड़ी उतार कर, वॉर्डरोब में रख दी।
फिर, वो वापस आ कर बेड पर बैठ गई। अब वो सिर्फ़ अपने बैकलेस और डीप नेक ब्लाउज और पेटीकोट में थी।
वो मेरे सामने बेड पर बैठी थी और मैं सोफे पर, बीच में टेबल पर ड्रिंक्स और खाने का समान लगा था।
सुमोना ने विस्की के दो पेग बनाए और एक मेरी तरफ बड़ा दिया।
हम दोनों चियर्स कर के, अपना अपना ड्रिंक सीप करने लगे।
मैं सुमोना के सामने बैठ कर, प्यासी नज़रों से उसके डीप नेक ब्लाउज में से बाहर निकलते हुए बूब्स, सेक्सी टमी और डीप नेवेल को देखते हुए विस्की सीप कर रहा था।
मेरा 9 इंच का लण्ड, शॉर्ट में पूरा खड़ा था और एक बहुत उँचा टेंट बना रहा था।
सुमोना भी उसे भूखी नज़रों से घूर रही थी और विस्की सीप कर रही थी।
हम दोनों ने, एक एक पेग ख़तम किया और सुमोना दूसरा पेग बनाने लगी।
दूसरा पेग बना के, सुमोना ने मेरी तरफ बढ़ाया।
दूसरा पेग, उसके हाथ से लेते हुए मेरी उंगलियाँ उसकी उंगलियों से टच हुई और हम दोनों के मुंह से एक हल्की सी अंह: निकल गई।
फिर, हम दूसरा पेग सीप करने लगे।
दूसरा पेग, सीप करते हुए.! .!
सुमोना – अमेरिका में, बहुत व्यस्तता थी और सफ़र से आते हुए, मैं काफ़ी थक गई थी… अब जा के, थोड़ा आराम मिल रहा है… मन कर रहा है, एक अच्छा सा फुल बॉडी मसाज लेने का…
मैं – हाँ, मेरा भी कुछ ऐसा ही हाल है…
सुमोना – तुम को मसाज चाहिए तो तुम्हारे लिए, कोई लड़की बुलाऊँ… जो मसाज भी देगी और बाकी सारे मज़े भी देगी… वैसे भी 3 दिन तक, हम को कोई काम नहीं है और सिंगापुर तो फेमस है यहाँ की गरमा गरम रंडियों के लिए… इंडिया से काफ़ी मर्द यहाँ, सिर्फ़ यही करने आते हैं…और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |
मैं – (शॉर्ट के ऊपर से अपने लण्ड पे हाथ फेरते हुए) नहीं यार, सुमोना… मैं अगर लड़की के साथ लगा रहा तो तुम और भी बोर हो जाओगी… मुझे तुम्हारा भी तो ख़याल रखना है…
सुमोना – अच्छा इतना ख़याल है मेरा की तुम मेरे लिए, सिंगापुर की एकदम गरमा गरम और चका चक रंडियाँ चोदने का मौका छोड़ रहे हो… हुम्ह: फिर, तो मुझे भी तुम्हारे एंटरटेनमेंट के लिए, कुछ करना चाहिए…
मैं – तुम क्या करोगी…
सुमोना – आज शाम को हम “स्ट्रीप शो” देखने चलते हैं… क्या ख़याल है…
मैं – नहीं यार सुमोना… फिरंगी और चीनी लड़कियों को स्ट्रीप करते हुए, नंगी देखने में कोई मज़ा नहीं है… मुझे तो रूचि और तुम्हारे जैसी “राक हार्ड, सेक्सी देसी लड़कियाँ” ही पसंद हैं…
सुमोना – अच्छा, मेरे जैसी…
मैं – हाँ…
सुमोना – अच्छा मैं “राक हार्ड, सेक्सी और देसी औरत” हूँ… वैसी, जैसी तुम को पसंद हैं…
मैं – हाँ!! बिल्कुल…
सुमोना – हुम्म्म: सोच रही हूँ की फिर मैं अब क्या करूँ, तुम्हारे एंटरटेनमेंट के लिए… मुझे भी तुम्हारे जैसे फिट मर्द पसंद हैं और जैसा की मैं तुम्हारे शॉर्ट के ऊपर से देख सकती हूँ, तुम्हारा लण्ड भी काफ़ी बड़ा और मोटा लग रहा है…
मैं – हाहाहा: हाँ… थैंक्स… तुम्हारा बदन भी बहुत सेक्सी है…
सुमोना – थैंक्स, तुम को मेरा बदन पसंद है तो हम दोनों ही, फिर एक दूसरे को मज़ा दे सकते हैं… स्ट्रीप पोकर के बारे में सुना है…
मैं – हाँ स्ट्रीप पोकर… हाँ मुझे पता है… कभी खेला नहीं, पर हाँ मनोरंजक होगा…
सुमोना – चलो, फिर… हम दोनों स्ट्रीप पोकर खेलते हैं… जैसा की मैं देख सकती हूँ, तुम कब से मेरा बदन देख रहे हो और मुझे ऐसे देखते हुए तुम्हारा लण्ड भी एकदम खड़ा है…
मैं – हाहाहा:… चलो, ठीक है… खेलते हैं…

सुमोना उठ कर, वॉर्डरोब में से ताश की गड्डी ले आई और मेरे सामने वाले सोफे पर बैठ गई।
उसने एक एक हाथ ताश बाँट दिए और पहली बाज़ी शुरू हुई।
पहली बाज़ी, मैं हार गया। और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |
सुमोना – वाउ!! मैं जीत गई…
मैं – हाँ, माइ हार्ड लक… बताओ, कौन सा कपड़ा उतारूँ…
सुमोना – तुम अपनी टी शर्ट, उतार दो… मैं तुम्हारा चौड़ा नंगा सीना देखना चाहती हूँ…
मैं – (टी शर्ट उतारते हुए) मेरे बदन पे दो ही कपड़े हैं, अगर फिर से हारा तो पूरा नंगा हो जाऊंगा…
सुमोना – चिंता, मत करो… मैंने भी पैंटी नहीं पहनी… मेरे बदन पर भी दो ही कपड़े हैं…
मैं – मतलब, हम 4 बाज़ी से ज़यादा नहीं खेल पाएँगें…
सुमोना – नहीं, हम पूरे नंगे होने के बाद भी गेम जारी रखेंगें… सारे कपड़े उतारने के बाद, जो हारेगा उसे एक डेयर करना होगा… बोलो, मंज़ूर है…
मैं – हाँ, गुड आइडिया… बहुत मज़ा आने वाला है…
सुमोना – तुम्हारी नंगी छाती, बहुत सेक्सी लग रहा है…
मैं – धन्यवाद…
सुमोना ताश ले कर, दूसरा हाथ बाँटने लगी और दूसरा गेम शुरू हुआ।
इस बार भी, मैं हार गया और सुमोना खुश हो गई.!
सुमोना – वाउ!! मज़ा आ गया… मैं फिर जीत गई… अब तुम को अपना शॉर्ट भी उतारना पड़ेगा…
मैं – लो, ले लो… मेरा शॉर्ट…
मैं पूरा नंगा हो के, सोफे पे बैठ गया।
मेरा 9 इंच का लण्ड, सुमोना को सलामी दे रहा था और सुमोना उसे भूखी नज़रों से घूर रही थी।

सुमोना – तुम चाहो तो, अपना लण्ड सहला सकते हो… टाइट खड़ा है, थोड़ा अनकंफर्टबल होगा… हिलने और सहलाने से आराम रहेगा…
मैं – ठीक है…

कहानी जारी रहेगी दोस्तों पढ़ते रहिये मस्तराम डॉट नेट और भी हजारो कहानियां है मस्तराम डॉट नेट पर |



e1.v-koshevoy.ru: Hindi Sex Kahani © 2015


"behan ki kahani""maa ko dost ne choda""hindi sex kahani bhai bahan""marathi sexi store""kali chut ki chudai""anterwasna hindi sex store""hindi kamasutra sex story""sex hindi story maa""free hindi sexy kahaniya""sasur bahu sex story""sex kahani baap beti""maa ko patni banaya""maa ki chudai story""sex kahani bhai bahan""हिन्दी सेक्स कहानियाँ""maa ki chudai ki kahani""kamasutra tamil kamakathaikal""blackmail karke choda""antarvasna sasur bahu""sexy story baap beti""mastram com net""sasur ka land""bhabhi ki chudai kahani hindi""zavazavi story in marathi""biwi ki chudai dekhi""chachi sex kahani""kuwari chut ki chudai ki kahani""chudai ki khaniya""हीनदी सेकस कहानी""chacha ne choda""new marathi sex katha""tamil kamasutra kathaikal""maa bete ki sex story in hindi"antravasana.com"brother sister sex story in hindi""mastram net hindi""sex story marathi new""mast ram ki kahani""sexy khaniya""bap beti chudai kahani""sali ki chudai hindi story""hindi sex story behan""antarvasna hindi store""devar bhabhi hindi sex story""bahan ki chudai story""sax stories in hindi""mastram kahani""sali jija sex story""sex story with sali""chachi hindi sex story"mastramnet"mastram net hindi""chachi ki chudayi""hindi dex story""train mein chudai""mastram chudai kahani""maa beta ki chudai story""kanchan ki chudai""sexy story gujrati""mastram sex story com""kutiya ki chudai""maa beta ki sex story""bahan ki chudai hindi kahani""train mein chudai""mastram sexy kahani""baap beti chudai story"mastramnet"jabardasti chudai ki kahani""choti behan ki chudai""baap beti ki chudayi""baap beti sexy story""sasur aur bahu ki chudai ki kahani"मसतराम"bahu ki gand""2016 antarvasna""antarvasna gandu""bahu ki chudai story"newhindisexstory"kuwari mausi ki chudai""antarvasna hindi store""chudai ki dastan""bhabhi ne chodna sikhaya""antarvasana .com""kamasutra hindi sex stories""maine kutiya ko choda""beti sex story""beta sex kahani""hindi sex story chodan com""marathisex katha""chut ka swad""hindi kamasutra story""bhai bhan sex khani""hindi chudai ki kahaniya""sexy kahani baap beti"www.chodan.com"baap beti ki chudai""maa bete ki hindi sex kahani""sagi bhabhi ki chudai""antarvasna maa beta""sex stories in gujarati"